राजस्थान की शान हवामहल का इतिहास जानिए आज….

आदित्य शर्मा|

जयपुर| राजस्थान पुरातत्व विभाग के तत्वाधान में डिजिटल बाल मेला द्वारा हवामहल में लाइव पेंटिंग आयोजित किया जाएगा| इतना ही नहीं हवामहल में 6 जून को 15 दिवसीय प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया था| ऐसा क्या इतिहास हैं जयपुर के हवामहल में जो आज की आज यह राजस्थान की पहचान बन गया है आइये जानते है-

राजस्थान की राजधानी जयपुर में स्थित हवा महल का निर्माण महाराजा सवाई जय सिंह के पोते सवाई प्रताप सिंह ने सन् 1799 में कराया था। वह राजस्थान के झुंझुनू शहर में महाराजा भूपाल सिंह द्वारा निर्मित खेतड़ी महल से इतने प्रभावित थे कि उन्होंने हवा महल का निर्माण कराया। यह रॉयल सिटी पैलेस के विस्तार के रूप में बनाया गया था। ललित जाली की खिड़कियों पर पर्दे वाली बालकनी से सजे इस खूबसूरत हवा महल के निर्माण का मुख्य उद्देश्य शाही जयपुर की शाही राजपूत महिलाओं को झरोखों में से सड़क पर हो रहे उत्सवों को देखने की अनुमति देना था।

हवा महल के बारे में ज़्यादा जानकारी के लिये डिजिटल बाल मेला की वेबसाइट देखते रहिये आने वाले दिनों में और भी दिलचस्प जानकारी और किस्सों के लिए जुड़े रहे डिजिटल बाल मेला से।

आप अपने बच्चे को लाइव पेंटिंग प्रतियोगिता के लिए www.digitalbaalmela.com या 8005915026 पर रजिस्टर कर सकते हैं| अधिक जानकारी के लिये हमारे सोशल मीडिया हैंडल फॉलो करें :-

WhatsApp/Telegram – 8005915026

Facebook Page – https://www.fb.com/digitalbaalmela/

Instagram – https://instagram.com/digitalbaalmela

Twitter – https://mobile.twitter.com/DigitalBaalMela

YouTube – https://bit.ly/3xRYkNz

Leave a Comment

Your email address will not be published.