हिमाचल प्रदेश विधानसभा बाल सत्र की चिकित्सा मंत्री बनीं निकुंज रांगटा

12 जून को स्पीकर श्री कुलदीप सिंह पठानिया की अध्यक्षता में हुआ था आयोजन…

साक्षी ठाकुर.

शिमला. 12 जून को हिमाचल प्रदेश विधानसभा स्पीकर की अध्यक्षता में राज्य ऐतिहासिक बाल सत्र का साक्षी बना. इस विशेष सत्र के लिए देश भर से 68 बच्चों का चयन किया गया था, जिसकी प्रक्रिया कुल तीन माह चली थी. “बाल प्रतिनिधि” बाल मुद्दों पर अपनी आवाज़ शिमला स्थित विधानसभा भवन मुखर करते नज़र आए. शिमला के लोरेटो कॉन्वेंट तारा हॉल में पढ़ रही निकुंज रांगटा का चयन भी इस सत्र के चिकित्सा मंत्री के रूप में किया गया.

विपक्ष के सवालों का जवाब देते हुए निकुंज ने प्रदेश में वर्तमान चिकित्सा केंद्रों की जानकारी सदन के साथ साझा की जिसमे उन्होंने बताया कि -“प्रदेश में कुल 606 प्राथमिक चिकित्सा केंद्र है….. ”
निकुंज ने अपनी एन्ट्री डिजिटल बाल मेला को भेजी थी जिसमें उन्होंने विशेष “बाल सत्र” में विपक्ष के नेता के लिए अपनी दावेदारी पेश की थी.

इस सत्र में मुख्य अतिथि के तौर पर राज्य के मुख्यमंत्री श्री सुखविंदर सिंह सुक्खू एवं बतौर विशिष्ठ अतिथि राज्यसभा उप-सभापति श्री हरिवंश नारायण सिंह, इस सत्र की ख़ास बात यह रही की बच्चों ने ही मुख्यमंत्री, नेता-प्रतिपक्ष, स्पीकर समेत सभी पदों की भूमिका निभाई व एक दिन के लिए राज्य की विधानसभा का संचालन किया..

अधिक जानकारी के लिए आप हमारे सोशल Media Handle’s फॉलो करें|

फेसबुक – https://www.fb.com/digitalbaalmela/
इन्स्टाग्राम – https://instagram.com/digitalbaalmela
ट्विटर – https://twitter.com/DigitalBaalMela
यूट्यूब – 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *