जानें मतदान और लोकतंत्र का महत्व, यशस्वी व्यास की जुबानी। 

अंतरराष्ट्रीय बाल दिवस के अवसर पर स्कूली छात्रा ने अपने दमदार भाषण से बताया लोकतंत्र और मतदान का महत्व…….

ओमप्रकाश ढाका।

अंतरराष्ट्रीय बाल दिवस 20 नवंबर 2023 के अवसर पर जवाहर कला केंद्र के शिल्पग्राम में डिजिटल बाल मेला और यूनिसेफ द्वारा आयोजित Blue street & Ed talk में विवेकानंद विद्या भवन स्कूल, जयपुर, कक्षा – 11 की छात्रा यशस्वी व्यास ने अपनी हमउम्र बच्चों को मतदान और लोकतंत्र का महत्व समझाया। यशस्वी ने कार्यक्रम में मौजूद बच्चों को लोकतंत्र और मतदान प्रणाली का पाठ पढ़ाया। उन्होंने बताया कि कैसे हमें लोकतांत्रिक व्यवस्था मिली और कैसे हमारे देश में आज भी लोकतंत्र जीवित है। स्कूली बालिका ने जब लोकतंत्र, राजनीती और मतदान पर बोलना शुरू किया तो लोग दंग रह गए। यशस्वी ने ऐसे बोला कि वहां मौजूद लोग बच्ची की तारीफ़ करने से पीछे नहीं हटे। यशस्वी व्यास ने अपने भाषण में बोला कि लोकतंत्र के पावन युग में हम राष्ट्र निर्माण को ना भूले और स्वार्थ साधना की आंधी में हम वसुधा का कल्याण ना भूले। आगे कहा ” आदरणीय अध्यक्ष और उपाध्यक्ष महोदय एवं संपूर्ण सभा को मेरा प्रणाम एवं सभी अतिथिगणों और विद्यार्थी मित्रों को मेरा नमस्कार।

आज अपने भाव लोकतंत्र एवं मतदान के ऊपर आप सभी के सामने साझा करना चाहती हूं।

सर्वप्रथम मैं आपसे पूछना चाहूंगी कि आप लोकतंत्र के बारे में क्या समझते है या आपकी नजरों में लोकतंत्र की परिभाषा क्या है ?

लोकतंत्र का अर्थ होता है लोगों का शासन जिसे आपने, हमने और हमारे जैसे देशवासियों ने बनाया गया है।

समूचे विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र भारत और उसका आधार मतदान है।

यशस्वी आगे कहती है ” कभी लोकसभा में खड़े होकर अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा था कि पार्टियां यूं ही बनेगी, बिगड़ेगी, सरकारें आयेगी और जायेगी लेकिन ये देश अमर रहना चाहिए। आख़िर उन्होंने ऐसा क्यों कहा था ? क्योंकि वह जानते थे कि हमारे लोकतंत्र की कीमत क्या है।

वह जानते थे कि लोकतंत्र हमें सड़क के किनारे कही पड़ा हुआ नही मिला है। वे जानते थे कि लोकतंत्र को पाने के लिए कितनी छातियों ने लोहे के टुकड़े को झेला है। कितने लोगों ने फांसी के फंदे को चूमा है और वह ये भी जानते थे कि कितनी मांओं ने अपनी कोख सुनी करी है, तब जाकर हमे लोकतंत्र हासिल हुआ है।

आप लोगों से पूछना चाहूंगी कि आप राजनीती के बारे में क्या समझते है ?

क्या जनता का पैसा खाना या बहुत भारी मतों से जीतना यही राजनीती कहलाती है। श्रीमद आप में से बहुत कम लोग राजनीती के बारे में बात करते है किन्तु प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूपों से उस स्तर की राजनीती को लाने में कहीं ना कहीं हमारा ही हाथ है। क्योंकि उस समय वोट डालते वक्त हमारी अंगूली किसी ने भी नहीं पकड़ी थी। हम सभी जानते है कि हमारे देश का संविधान कही गलत हाथों में पड़ जाए तो ना तो मुझ जैसी लड़की इस तरह घूम पाएगी और ना आज मुझे इस तरह आप सुन पाएंगे। तो जागो – जागो देश के सभी मतदाता, जागो अपने देश के लिए जागो। क्योंकि हम सभी जानते है कि ये सिर्फ़ हमारी जिम्मेदारियां ही नही बल्कि हमारा अधिकार भी है। लोकतंत्र को बचाना और सही रूप से स्थापित करना है।

डिजिटल बाल मेला के कार्यक्रमों की जानकारी के लिए डिजिटल बाल मेला के इस नंबर/वेबसाइट : 8005915026/ https://www.digitalbaalmela.com/ पर संपर्क करें।

अधिक जानकारी के लिए हमारे सोशल मीडिया हैंडल्स को फॉलो करें –

Facebook – https://www.fb.com/digitalbaalmela/

Twitter – https://twitter.com/DigitalBaalMela

YouTube – https://bit.ly/3xRYkNz

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *